UPSC Syllabus | UPSC IAS Syllabus in Hindi | यूपीएससी आईएएस सिलेबस पीडीएफ

UPSC IAS Syllabus in Hindi 2023 (UPSC Syllabus) :- IAS का पूरा नाम Indian Administrative Services होता है। UPSC IAS देेश की काफी जानी मानी परीक्षा है, इसके लिए हर साल लाखों उम्मीदवार परीक्षा देते हैं, तथा इसमें सफल होने के लिए एक अलग ही होड़ मची रहती है। इसलिए आज हम आपको UPSC Syllabus और UPSC IAS Exam Pattern के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी देंगे जिसकी मदद से आप भारत की सबसे पावरफुल नौकरी की तैयारी आसानी से कर पाएं।

IAS की परीक्षा का आयोजन UPSC कराती है और लगभग लाखो परीक्षार्थी हर साल इसमें भाग लेते हैं। IAS Exam भारत की सबसे कठिन और प्रसिद्ध परीक्षाओं में से एक है। भारत सरकार में विभिन्न सेवाओं और पदों पर भर्ती के लिए हर साल UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) द्वारा देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा सिविल सेवा परीक्षा (IAS Exam) आयोजित किया जाता है।

इस परीक्षा के माध्यम से, चयनित अभ्यर्थियों को भारत सरकार की प्रशासनिक व अन्य सेवाओं में नियुक्तियां दी जाती हैं जैसे आईएएस (भारतीय प्रशासनिक सेवा), आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा), आईएफएस (भारतीय विदेश सेवा) लेकिन इस परीक्षा के जरिए मिलने वाली नौकरियां यहीं तक सीमित नहीं हैं।भारत सरकार के अंतर्गत लगभग 24 ऐसी सेवाएं हैं, जिनमें हर साल UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से नियुक्तियां होती हैं।

UPSC IAS Syllabus in Hindi

UPSC IAS Syllabus In Hindi के माध्यम से आपको उन महत्वपूर्ण विषयों को समझने में मदद मिलेगी, जो लिखित परीक्षा में ज्यादा वेटेज अंक रखते हैं, जिजको जानने के बाद आप उन विषयों पर अतिरिक्त प्रयास कर सकते हैं। जिससे आप आगामी परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे और अन्य प्रतिभागियों से आगे निकल जाएंगे।

UPSC Syllabus In Hindi | यूपीएससी आईएएस परीक्षा – संक्षिप्त विवरण

भर्ती बोर्ड का नामसंघ लोक सेवा आयोग ,
Union Public Service Commission(UPSC)
परीक्षा का नाम UPSC IAS (UPSC CSE)
आवेदन मोड ऑनलाइन
योग्यता स्नातक डिग्री (न्यूनतम)
UPSC IAS चयन प्रक्रियाप्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)
मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
साक्षात्कार (Interview)
परीक्षा शुरू होने की तिथिAdmit card आने के बाद
जॉब लोकेशनसम्पूर्ण भारत में कहीं भी
लेख का नामUPSC IAS Syllabus in Hindi
लेख कैटेगरीsyllabus
परीक्षा मोडऑफलाइन (पेन और पेपर पर आधारित)
अटेम्प्टस06 अटेम्प्ट सामान्य और ईडब्ल्यूएस
09 अटेम्प्ट ओबीसी
एससी/एसटी (अंतिम आयु सीमा तक)
आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in

UPSC Exam Pattern 2023 In Hindi | यूपीएससी आईएएस परीक्षा पैटर्न

यदि आप देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा सिविल सेवा परीक्षा (IAS Exam) की तैयारी कर रहे हैं तो आपको UPSC IAS Exam Pattern और IAS Syllabus in Hindi को बहुत ध्यान से पढ़ना होगा।

जो उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं उनके लिए इस पृष्ठ पर IAS Syllabus in Hindi & Exam pattern के बारे में पूरी जानकारी दी गई है, जो आपकी आगामी UPSC के लिखित परीक्षा में आपकी मदद करेगा।

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा निम्नलिखित दो तीन चरणों में होती है जो इस प्रकार है-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

नीचे की तरफ हम आपको बताए हैं कि इन तीनों परीक्षाओं को लेने का उद्देश्य क्या होता है तथा इन परीक्षाओं को पास करने के लिए आप हमारे द्वारा लिखा गया UPSC IAS Syllabus in Hindi सम्पूर्ण रूप से पढ़े।

  • प्रारम्भिक परीक्षा (बहुविकल्पीय): सामान्य अध्ययन (GS) और सीएसएटी (CSAT or Civil Services Aptitude Test)
  • मेन्स परीक्षा (लिखित परीक्षा):  9 थ्योरी पेपर्स (GS I-IV, अनिवार्य भारतीय भाषा, अंग्रेजी भाषा, निबंध और वैकल्पिक-I, वैकल्पिक-II )
  • इंटरव्यू : (व्यक्ति की पहचान उसके कार्य करने की कार्य शैली को जानने के लिए)।

UPSC Prelims Exam Pattern 2023

वर्तमान में सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपर होते हैं। पहला पेपर ‘सामान्य अध्ययन’ का होता है जबकि दूसरे को सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा ‘Civil Services Aptitude Test’ या ‘CSAT’ कहा जाता है।

प्रीलिम्स परीक्षा के दोनों पेपर अनिवार्य हैं इसलिए सिविल सेवा मेन्स के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, उम्मीदवारों को दोनों पेपरों को अटेम्पट करना अनिवार्य होगा।

पेपरप्रश्नों की संख्याअंकसमय
पेपर I –
सामान्य अध्ययन
1002002 घण्टे
पेपर II –CSAT (क्वालिफाइंग)802002 घण्टे
कुल प्रश्नों और अंको की संख्या1804004 घण्टे

Upsc Prelims Exam Pattern

UPSC Syllabus- सामान्य अध्ययन

  • कुल प्रश्न – 100
  • कुल अंक – 200
  • समय – 2 Hrs.
  • नकारात्मक अंक – Yes (1/3 )
  • प्रश्न पत्र का प्रकार – बहुविकल्पीय

UPSC Syllabus – सामान्य अध्ययन II (CSAT)

  • कुल प्रश्न – 80
  • कुल अंक – 200
  • समय – 2 Hrs.
  • नकारात्मक अंक – Yes (1/3)
  • प्रश्न पत्र का प्रकार – बहुविकल्पीय

Upsc Prelims Exam Pattern 2023

  • सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा प्रत्येक वर्ष प्राय: मई/जून के महीने में आयोजित की जाती है जिसमें एक ही दिन 400 अंकों के लिए प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपर I (सामान्य अध्ययन) व II (सी-सैट) की परीक्षा ली जाती है।
  • दोनों प्रश्नपत्र 200-200 अंकों के होते हैं। पहले प्रश्नपत्र (सामान्य अध्ययन) में 2-2 अंकों के 100 प्रश्न होते हैं जबकि दूसरे प्रश्नपत्र (सीसैट) में 2.5-2.5 अंकों के 80 प्रश्न होते हैं।
  • दोनों पेपरों में गलत उत्तरों के लिए नेगेटिव मार्किंग हैं, जो उस प्रश्न के लिए दिए गए कुल अंकों के 1/3 के बराबर हैं।
  • चूंकि पहले प्रश्न पत्र में प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाएंगे। तो, प्रत्येक गलत प्रश्न के लिए कुल में से 0.66 अंक काटे जाएंगे। जबकि दूसरे प्रश्नपत्र में प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2.5 अंक दिए जाएंगे। तो, प्रत्येक गलत प्रश्न के लिए कुल में से 0.83 अंक काटे जाएंगे
  • जिन प्रश्नों का अटेम्प्ट नहीं किया गया है, उनके लिए कोई भी अंक नहीं कटेगा।
  • CSAT में ‘निर्णयन क्षमता’ से सम्बंधित प्रश्नों के गलत उत्तर के लिये अंक नहीं काटे जाएंगे।
  • CSAT पेपर क्वालिफाइंग प्रकार का है, इसलिए प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के लिए, एक उम्मीदवार को CSAT पेपर में केवल 33 प्रतिशत अंक (लगभग 27 प्रश्न या 66 अंक) प्राप्त करने होंगे। यदि वह इससे कम अंक प्राप्त करता है, तो उसे असफल माना जाएगा।
  • मेन्स परीक्षा हेतु उम्मीदवारों के चयन के लिए कट-ऑफ का निर्धारण सिर्फ प्रथम प्रश्नपत्र यानी सामान्य अध्ययन के आधार पर किया जाता है।
  • प्रीलिम्स में प्राप्त अंकों को फाइनल मेरिट में नही जोड़ा जाएगा।

UPSC Prelims Syllabus 2023 In Hindi | यूपीएससी सिलेबस

नीचे की तरफ हम UPSC आईएएस के प्री सिलेबस के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दिए हैं जिसको पढ़कर आप यूपीएससी आईएएस प्री परीक्षा आसानी से निकाल सकते हैं।

UPSC Syllabus प्रारंभिक परीक्षा प्रश्न-पत्र 1 ( सामान्य अध्ययन ) में शामिल विषय :

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं
  • भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
  • भारत एवं विश्व का भूगोल : भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल, इत्यादि।
  • भारतीय राज्यतंत्र और शासन : संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, लोक नीति, अधिकार संबंधी मुद्दे, इत्यादि।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत्‌ विकास
  • गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में की गई पहल आदि।
  • पर्यावरणीय पारिस्थितिकी
  • जैव-विविधता और मौसम . परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे: इनके लिए विषयगत विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं।
  • सामान्य विज्ञान, इत्यादि।

CSAT पेपर के लिए यूपीएससी आईएएस सिलेबस हिंदी में (प्री पेपर- II)

  • तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समस्या का समाधान
  • समझ
  • संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल
  • सामान्य मानसिक क्षमता
  • मूल संख्यात्मकता (संख्याएं और उनके संबंध, परिमाण के क्रम,)
  • डेटा व्याख्या (चार्ट, ग्राफ़, टेबल, डेटा पर्याप्तता, इत्यादि |

UPSC Mains Exam Pattern In Hindi 2023 |

प्रारंभिक परीक्षा को सफलतापूर्वक उत्तीर्ण करने के बाद ही उम्मीदवारों को IAS मेन्स परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाती है। IAS Mains परीक्षा एक वर्णनात्मक प्रकार की परीक्षा होती है। IAS Mains Exam में उम्मीदवारों को प्रश्नों के लंबे उत्तर अपने शब्दों में लिखने होते हैं।

यूपीएससी मेन्स परीक्षा में 9 पेपर होते हैं, जिनमें से दो क्वालिफाइंग पेपर होते हैं। दो क्वालीफाइंग पेपर (प्रत्येक 300 अंकों के) इस प्रकार हैं –

  • कोई भी भारतीय भाषा का पेपर – 300 अंक
  • अंग्रेजी भाषा का पेपर – 300 अंक

Note: क्वालीफाइंग प्रकार के दोनों प्रश्नपत्रों में अर्हता प्राप्त करने के लिए कम से कम 25% अंक प्राप्त करना आवश्यक है।

  • क्वालीफाइंग परीक्षा में न्यूनतम 25% अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों की ही निबंध, सामान्य अध्ययन और वैकल्पिक विषयों की कॉपी जंचेगी।
  • यदि कोई उम्मीदवार क्वालीफाइंग परीक्षा को उत्तीर्ण नहीं करता है, तो उन उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त अंकों पर विचार या गणना नहीं किया जाएगा।
  • Note: आईएएस मेन्स परीक्षा में अंग्रेजी भाषा (क्वालिफाइंग) प्रश्नपत्र एवं हिंदी या संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कोई भाषा (क्वालिफाइंग) होती है, सामान्य अध्ययन के चार प्रश्नपत्र, तथा अभ्यर्थी द्वारा चयनित वैकल्पिक विषय के दो प्रश्नपत्र इस परीक्षा में होते हैं।
  • दोनों क्वालिफाइंग प्रश्नपत्रों के अंक अंतिम रैंक सूची निर्धारण के लिये नहीं जोड़े जाते हैं।
  • क्वालिफाइंग’ प्रकृति के दोनों प्रश्नपत्र 300–300 अंकों के होते हैं। जिसमे न्यूनतम अर्हता 25% (75 अंक) निर्धारित की गई हैं।
  • मेन्स परीक्षा के लिए प्रत्येक प्रश्न पत्र 3 घंटे की अवधि का होगा।
  • मेन्स परीक्षा के प्रश्नपत्र (भाषा के साहित्य के अलावा) केवल हिंदी और अंग्रेजी में सेट किए जाते हैं।
  • उम्मीदवारों को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किसी एक भाषा में या अंग्रेजी में सभी प्रश्नपत्रों के उत्तर देने होते हैं।

UPSC Mains Exam के पेपर व उनके संबंधित अंकों की सूची नीचे दी गई है:-

प्रश्नपत्र का नामअंक
अंग्रेज़ी भाषा (क्वालिफाइंग)300
हिंदी या संविधान की 8वीं
अनुसूची में शामिल कोई भी भाषा (क्वालिफाइंग)
300
निबंध250
सामान्य अध्ययन-1
(भारतीय विरासत और संस्कृति,
विश्व का इतिहास एवं भूगोल
तथा समाज)
250
सामान्य अध्ययन-2
(शासन व्यवस्था, संविधान, राजव्यवस्था,
सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध)
250
सामान्य अध्ययन-3
(प्रौद्योगिकी, आर्थिक
विकास, जैव-विविधता,
पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा- प्रबंधन)
250
सामान्य अध्ययन-4
(नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिवृत्ति)
250
वैकल्पिक विषय- प्रश्नपत्र-1250
वैकल्पिक विषय- प्रश्नपत्र-2250
व्यक्तित्व परीक्षण275

UPSC Mains Syllabus In Hindi | यूपीएससी आईएएस मेंस परीक्षा विस्तृत सिलेबस

नीचे के तरफ हम यूपीएससी आईएएस मेंस परीक्षा सिलेबस के बारे में संपूर्ण जानकारी दिए हैं जिसको पढ़ कर आप यूपीएससी मेंस परीक्षा की तैयारी बढ़िया तरीके से करके मेंस परीक्षा आसानी से उत्तीर्ण कर सकते हैं।

UPSC Mains प्रश्न-पत्र का उद्देश्य अंग्रेजी तथा संबंधित भारतीय भाषा में अपने विचारों को स्पष्ट व सही रूप से प्रकट करना तथा गंभीर तर्कपूर्ण गद्य को पढ़ने और समझने में उम्मीदवार की योग्यता की परीक्षा करना होता है।

UPSC Syllabus – Paper A: अनिवार्य भारतीय भाषा

UPSC Syllabus in Hindi की परीक्षा में सफल होने के लिए निम्नलिखित बिंदु की समझ अति आवश्यक है।

  • दिए गए वाक्यांश(passages ) की समझ।
  • सटीक लेखन।
  • उपयोग और शब्दावली।
  • लघु निबंध।
  • अंग्रेजी से भारतीय भाषा में अनुवाद और इसके विपरीत
  • भारतीय भाषा से अंग्रेजी भाषा में अनुवाद

UPSC Syllabus – Paper B: अंग्रेजी

UPSC Syllabus in Hindi की इस परीक्षा में सफल होने के लिए निम्नलिखित बिंदु की समझ अति आवश्यक है।

  • दिए गए वाक्यांश की समझ। (Comprehension of given passages)
  • सटीक लेखन।
  • उपयोग और शब्दावली।
  • लघु निबंध।

UPSC Syllabus – प्रश्पत्र 1 में शामिल विषयों का विवरण

UPSC Syllabus | (1) राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएं

इस खण्ड में प्रश्नों की तैयारी हेतु सामान्यतः राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्‍तर पर लगभग बीते एक वर्ष के बीच घटी प्रमुख घटनाओं और ज्वलंत मुद्दों का अध्ययन करना चाहिए।

UPSC Syllabus | (2) भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन

यह सामान्य अध्ययन पाठ्यक्रम का सबसे लंबा भाग कहा जा सकता है। इस विषय के अंतर्गत संस्कृति, धर्म, सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक पहलुओं से संबद्ध प्राचीन, मध्यकालीन व आधुनिक भारतीय इतिहास के प्रश्नों को शामिल किया जाता है। इसके अतिरिक्त प्राचीन और मध्यकालीन प्रशासन से संबद्ध कठिन शब्दावली के विषय में भी प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

आधुनिक भारत के संदर्भ में प्राय: राष्ट्रीय आंदोलन, सामाजिक-आर्थिक आंदोलन, संवैधानिक विकास व ब्रिटिश प्रशासनिक पहलुओं से संबद्ध प्रश्न पूछे जाते हैं। अतः आवश्यक है कि अभ्यर्थी इन व्यापक विषयों के अध्ययन हेतु विभिन्‍न ऐतिहासिक विषयों पर आधारित विभिन्‍न मानक पुस्तकों का अध्ययन करे ।

UPSC Syllabus | (3) भारत एवं विश्व भूगोल

इस विषय के अंतर्गत भारत एवं विश्व के प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल से संबंधित प्रश्न शामिल होंगे। अतः इस विषय की गहन व अच्छी तैयारी के लिए आप कक्षा 6 से लेकर कक्षा 12 तक की एनसीईआरटी की भूगोल की पुस्तको का अध्ययन करें। इसमें प्रश्न मानचित्र आधारित हो सकते हैं।

UPSC Syllabus | (4) भारतीय राज्यतंत्र और शासन

इस विषय के अंतर्गत संवैधानिक प्रावधानों के साथ-साथ, राजनैतिक प्रणाली, राज, लोक नीति, अधिकार संबंधी मुद्दों तथा समाचार-पत्रों में प्रकाशित अद्यतन घटनाओं के संदर्भ में इन प्रावधानों की व्यावहारिकता का अध्ययन करें। अर्थात्‌ अभ्यर्थी इस विषय का अध्ययन समसामयिक घटनाओं के संदर्भ में करें।

UPSC Syllabus | (5) आर्थिक और सामाजिक विकास

UPSC Syllabus के इस विषय के अंतर्गत सतत्‌ विकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की, की गई पहल इत्यादि व भारतीय अर्थव्यवस्था के बुनियादी तत्वों का अध्ययन शामिल हैं। इसमें भारतीय अर्थव्यवस्था के अद्यतन विकास से संबंधित प्रश्न भी प्राय: पूछे जाते हैं।

अभ्यर्थियों के लिए आवश्यक है कि वह सरकार द्वारा गरीबी उन्मूलन हेतु चलाई जा रही विभिन्‍न योजनाओं का अवलोकन करते रहें व भारतीय अर्थव्यवस्था सम्बंधित क्षेत्रों में सरकारी हस्तक्षेप के द्वारा विकास को प्रेरित करने हेतु अद्यतन सरकारी नीतियों व प्रयासों पर निगरानी रखें, साथ ही बजट, आर्थिक सर्वेक्षण आदि का भी भली भांति अध्ययन करें।

UPSC Syllabus | (6) पर्यावरणीय पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे

यह विषय अन्य विषयों की अपेक्षा कुछ अलग है। इसे एक “गत्यात्मक ‘ विषय कहा जा सकता है अर्थात्‌ जो निरंतर बदलता रहे। अतः अभ्यर्थियों को इस विषय की आंतरिक संकल्पना को समझते हुए पर्यावरणीय पारिस्थितिकी के संदर्भ में अद्यतन मुद्दों के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता होगी। इस विषय की तैयारी के लिए अभ्यर्थी यथा पारिस्थितिकी तंत्र, क्लाइमेट चेंज, ग्लोबल वॉर्मिंग, ग्रीन हाउस उत्सर्जन, ओज़ोन परत, क्योटो प्रोटेकॉल आदि से संबंधित विषयों का अध्ययन करें।

UPSC Syllabus | (7) सामान्य विज्ञान

UPSC Syllabus के इस खंड के अंतर्गत विशुद्ध विज्ञान और विज्ञान के अनुप्रयोगों-औषधियों आदि से संबद्ध प्रश्नों के साथ ही इसमें समसामयिकता का भी समावेश रहता है। इसमें सम्मिलित विशुद्ध विज्ञान के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकों का अध्ययन किया जा सकता है तो वैज्ञानिक अनुप्रयोग आधारित जानकारी हेतु अद्यतन समाचारों का अवलोकन करना उचित होगा।

UPSC Syllabus | यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा प्रश्न-पत्र 2 ( सीसैट ) में शामिल विषय :

  • बोधगम्यता
  • संचार कौशल सहित अंतर्वैयक्तिक कौशलतार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समस्या समाधन
  • सामान्य मानसिक योग्यता
  • आधारभूत संख्यनन, संख्याएं और उनके संबंध, विस्तार क्रम आदि (।0वीं कक्षा का स्तर), आंकड़ों का निर्वचन (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आंकड़ों की पर्याप्तता आदि स्तर 10वीं कक्षा)

UPSC Syllabus | प्रश्न-पत्र 2 में शामिल विषयों का विवरण

upsc syllabus in hindi – (1) बोधगम्यता

इस खण्ड का उद्देश्य अभ्यर्थी के भाषायी कौशल की जाँच करना नहीं है अपितु इस खंड के द्वारा अभ्यर्थी की रुचि, पढ़ने की आदत, पढ़ने की क्षमता, जल्द उत्तर देने की क्षमता एवं विश्लेषणात्मक क्षमता आदि की जाँच की जाती है। किसी भी विषय पर अपनी समझ बढ़ाने के लिए अधिक-से-अधिक पढ़ें।

प्रतिदिन एक समाचार-पत्र, प्रतियोगी पत्रिका, विभिन्‍न सरकारी रिपोर्ट, आंकड़े आदि तीब्र गति से पढ़ने, उनको समझने व उनका विश्लेषण करने की आदत बनाएँ। विभिन्‍न विषयों के बारे में कुछ न कुछ समझ आपको होनी चाहिए।

उदाहरण के लिए यदि स्पेशल इकोनॉमिक जोन के बारे में आपने कभी नहीं सुना तो सीमित समय में इस विषय से संबंधित पैरे को समझना व उसका उत्तर देना आपके लिए कठिन होगा।

upsc syllabus in hindi – (2) संचार कौशल सहित अंतर्वैयक्तिक कौशल

इस खण्ड के अन्तर्गत अभ्यर्थी की अन्य व्यक्तियों के साथ सम्पर्क करने, उनके समक्ष अपने विचारों को व्यक्त करने एवं अन्यों के विचारों को समझने की योग्यता को आंका जाएगा।

upsc syllabus in hindi – (3) तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता

upsc syllabus in hindi के अन्तर्गत भाषाई तार्किक विश्लेषण (जैसे-तार्किक अनुमान या निष्कर्ष, तार्किक आरेख, तार्किक संबंध, तार्किक कथन, तार्किक पूर्व धारणाएँ व परिकल्पनाएँ, व्यावहारिक प्रक्रिया विश्लेषण आदि) एवं अभाषिक तार्किक विश्लेषण (जैसे- श्रृंखला, तत्वों का बढ़ना, सादृश्य, वर्गकरण आदि) के प्रश्न पूछे जाएँगे।

upsc syllabus in hindi – (4) निर्णयन क्षमता एवं समस्या समाधान

प्रशासनिक सेवा के लिए परीक्षार्थियों के चयन हेतु इस खण्ड का अपना अलग महत्व है। संघ लोक सेवा अयोग इस खण्ड के द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष आने वाली समस्याओं व उनके हल संबंधी प्रश्न पूछ सकता है। इसके अतिरिक्त अन्य सामान्य समस्याओं को खोजने व उनके समाधान संबंधी प्रश्न भी पूछे जा सकते हैं।

upsc syllabus in hindi – (5) सामान्य मानसिक योग्यता

इस खंड के अंतर्गत दिये गये गद्यांश से अपनी बुद्धिमता के हिसाब से प्रश्नों का उत्तर देना व “पूर्व अर्जित ज्ञान को नए अनुभव से संबद्ध करना’ ही परिज्ञान या समझ है।

अधिक्तर परीक्षार्थी इस खंड के प्रश्नों से घबराते हैं किन्तु यदि समय प्रबंधन के साथ इनका अभ्यास किया जाए तो इनको हल करना इतना भी कठिन नहीं है।

पिछले कुछ वर्षो के प्रश्न-पत्रों में पूछे गए सामान्य मानसिक योग्यता संबंधी प्रश्नों का हल करके भी आप सफलता के अत्यन्त निकट पहुँच सकते हैं।

upsc syllabus in hindi – (6) आंकिक क्षमता

इस खंड के अन्तर्गत आधारभूत संख्यनन, संख्याएं और उनके संबंध, विस्तार क्रम (10वीं कक्षा का स्तर), आंकड़ों का निर्वाचन (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आंकड़ों की पर्याप्तता आदि का परीक्षा स्तर 10वीं कक्षा होगा) इत्यादि से प्रश्न आ सकते हैं। वर्तमान में अधिक्तर प्रतियोगी परीक्षाओं में इस खण्ड को शामिल किया जाता है।

चाहे वह प्रोबेशनरी ऑफिसर परीक्षा हो या एक लिपिकीय वर्ग की परीक्षा हो, सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में सदा ही ऐसे प्रश्न पूछे जाते रहे हैं। किन्तु नई परीक्षा पद्धति के अन्तर्गत द्वितीय प्रश्न-पत्र ने इस खण्ड की महत्ता बढ़ा दी है।

यूपीएससी आईएएस इंटरव्यू परीक्षा के लिए यूपीएससी सिलेबस

यूपीएससी की परीक्षा में इंटरव्यू का आयोजन इसलिए होता है कि उसे से व्यक्ति का परीक्षण किया जा सके, यूपीएससी परीक्षा के चयन का इंटरव्यू अंतिम चरण है। इंटरव्यू के लिए कोई परिभाषित यूपीएससी सिलेबस नहीं है।

  • यूपीएससी मेन्स परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों को ‘व्यक्तित्व परीक्षण/इंटरव्यू’ के लिए बुलाया जाएगा।
  • इंटरव्यू का उद्देश्य सक्षम और निष्पक्ष बोर्ड के पर्यवेक्षकों द्वारा सिविल सेवाओं के भविष्य के लिए इंटरव्यू किया जाता है।
  • इंटरव्यू के माध्यम से उम्मीदवार के मानसिक गुणों और विश्लेषणात्मक क्षमता का पता लगाया जाता है।
  • इंटरव्यू परीक्षा 275 अंकों की होती है।

upsc syllabus pdf

यदि आप upsc syllabus pdf in hindi डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप इस पीडीएफ को UPSC की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकतें हैं या नीचे दिए upsc syllabus pdf  लिंक के माध्यम से डाउनलोड कर सकतें हैं।

upsc syllabus pdf

UPSC IAS Previous Year Paper

यदि आप UPSC IAS Exam में ज्यादा अंक प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको UPSC IAS Exam के Previous Year Paper का गहन अध्ययन करना ही पड़ेगा।

यदि आप UPSC IAS  Previous Year Paper pdf डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप इस पीडीएफ को आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकतें हैं या नीचे दिए UPSC IAS Previous Year Paper 2022 Pdf  लिंक से डाउनलोड कर सकतें हैं।

UPSC IAS Sallary

IAS बन जाने के बाद शुरुआती सैलरी करीब 56,100 से शुरू होती है,जो सर्विस पूरी होने तक 2,50,000 तक पहुंच जाती है। सभी अधिकारी को अलग-अलग जगहों में अपनी सेवाएं देने पर अलग- अलग भत्ते दिए जाते हैं जिसमें यात्रा भत्ता, महंगाई भत्ता, किराया भत्ता इत्यादि अलग से जोड़ कर मिलता है।

UPSC IAS Syllabus In Hindi – Faq

क्या UPSC IAS Exam में इंटरव्यू होता है?

हाँ, UPSC IAS Exam में इंटरव्यू होता है। यह परीक्षा का तीसरा चरण है।

Can I prepare for IAS at home?

जी हाँ, यदि आप तैयारी के लिए सही दिशा निर्देश का पालन करते हैं तो आप IAS की तैयारी घर से कर सकते हैं।

Which is highest post in IAS?

कैबिनेट सेक्रेटरी का पद UPSC आईएएस में सबसे उच्चतम माना जाता है।

Is 1 year enough for IAS preparation?

जी हाँ, यदि आप सही दिशा में और लगातार तैयारी करें तो आप IAS की तैयारी 1 साल में अच्छे से कर सकते हैं। और परीक्षा भी निकाल सकते हैं।

Is IAS exam difficult?

IAS Exam देश की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है। लेकिन इसके लिए सबसे पहले मानशिक रूप से तैयार होना पड़ता है, जिससे कि आप लगातार इस परीक्षा की तैयारी कर, परीक्षा पास कर पाए।

CSAT का पूरा नाम क्या है?

Common Entrance Test है। इस परीक्षा को पास करना अनिवार्य रहता है।

what is the syllabus of upsc

यूपीएससी सिलेबस में जीएस पेपर 1 में इतिहास, भूगोल और भारतीय समाज,राष्ट्रीय आंदोलन है
जीएस पेपर 2 में भारतीय राजनीति, शासन व्यवस्था, भारत का संविधान, न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध, शासन इत्यादि।
जीएस पेपर 3 में भारतीय अर्थव्यवस्था, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, पर्यावरण सुरक्षा, आपदा प्रबंधन महत्वपूर्ण विषय हैं
जबकि जीएस पेपर 4 में नैतिकता, सत्यनिष्ठा अभिवृत्ति इत्यादि विषय शामिल हैं।

क्या CSAT पेपर पास करना अनिवार्य है?

हाँ, CSAT परीक्षा पास करना अनिवार्य है
CSAT पेपर क्वालिफाइंग प्रकार का है, इसलिए प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के लिए CSAT पेपर में 33 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य है।

आईएएस का पूरा नाम क्या है?

भारतीय प्रशासनिक सेवाएं

UPSC की अधिकारिक वेबसाइट क्या है?

https://www.upsc.gov.in/ है।

1 thought on “UPSC Syllabus | UPSC IAS Syllabus in Hindi | यूपीएससी आईएएस सिलेबस पीडीएफ”

Leave a Comment