MP PAT Online Form 2021, सिलेबस एव परीक्षा पैटर्न की जानकारी

MP PAT Online Form 2021: मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल एमपीपीईबी ने प्री एग्रीकल्चर टेस्ट 2021 के लिए एडमिशन फॉर्म जारी किया है, जो भी उम्मीदवार इस ऑनलाइन फॉर्म का इंतजार कर रहे थे या इसमें एडमिशन लेना चाहते हैं वो अपना ऑनलाइन आवेदन जल्द से जल्द करा लें।

मध्य प्रदेश राज्य के इस भर्ती के अंतर्गत बी.एससी. एजी, बी.एससी. बागवानी, बी.एससी वानिकी, बी.टेक कृषि इत्यादि कोर्स आते हैं। यदि इन विषयो में से किसी में भी एडमिशन लेने की इच्छा रखते है तो आप अपना ऑनलाइन आवेदन 12 अक्टूबर 2021 से लेकर 26 अक्टूबर 2021 के बीच कभी भी करा सकते हैं।

MP PAT online form

हम आपको निर्दिष्ट कर दे कि इस एडमिशन फॉर्म की परीक्षा तिथि आयोग द्वारा तय कर दी गई है, मतलब की ये फॉर्म भरने के बाद आपको कुल लगभग 45 दिन का समय दिया जाएगा परीक्षा की तैयारी के लिए, मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल प्री एग्रीकल्चर टेस्ट की परीक्षा 05 से 07 दिसम्बर के बीच होनी प्रस्तावित है।

मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल, एमपी
एमपी प्री एग्रीकल्चर टेस्ट पीएटी 2021 ऑनलाइन फॉर्म
अधिसूचना का संक्षिप्त विवरण
महत्वपूर्ण तिथियां
ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तिथि : 12/10/2021
ऑनलाइन आवेदन करने की आख़िरी तिथि : 26/10/2021 
आवेदन फीस जमा करने की आखिरी तिथि : 31/11/2021
फॉर्म में सुधार करने की अंतिम तिथि : 31/10/2021
परीक्षा तिथि : 05 से 07 दिसम्बर 2021 (रविवार, सोमवार, मंगलवार) तक
एडमिट कार्ड डाउनलोड शुरू होने की तिथि : अभी कोई सूचना नहीं
परीक्षा की तिथि : अभी कोई सूचना नहीं

MP PAT ऑनलाइन आवेदन फीस की जानकारी

  • जनरल और अन्य राज्य के उम्मीदवारों के लिए आवेदन फीस- 570/- रुपये
  • ओबीसी/SC/ST उम्मीदवारो के लिए आवेदन फीस – 320/- रुपये
  • पोर्टल शुल्क रु. 70/- रुपये
    • ऑनलाइन फीस का भुगतान उम्मीदवार एमपी ऑनलाइन अधिकृत कौशिक केंद्र पर नकद के माध्यम से या अपने क्रेडिट कार्ड, एटीएम कार्ड, नेट बैंकिंग या बैंक ई चलान के माध्यम से किया जा सकता है।

MP PAT ऑनलाइन आवेदन करने वाले उम्मीदवार की आयु सीमा

प्री एग्रीकल्चर टेस्ट की एडमिशन परीक्षा के लिए कोई उम्र सीमा निर्धारित नही है, जो भी उम्मीदवार इस फॉर्म को भरना चाहता है वो भर सकता है।

MP PAT प्रवेश परीक्षा केंद्र

भोपाल, इंदौर,जबलपुर, ग्वालियर,उज्जैन, सतना, सागर,रतलाम,मन्दसौर।

एमपी व्यापम प्रवेश फॉर्म का विवरण

कोर्स का नामकोर्स पूरा होने में लगने वाला समय
बीएससी एजी4 वर्ष
बीएससी बागवानी4 वर्ष
बीएससी वानिकी4 वर्ष
बी.टेक कृषि4 वर्ष

एमपी व्यापम प्रवेश परीक्षा के लिए योग्यता

  • भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पीसीबी या कृषि समूह विषयों के साथ इंटरमीडिएट परीक्षा पास होने चहिये।

महत्वपूर्ण लिंक्स | sarkariexamup

ऑनलाइन आवेदन करेंलिंक 12 अक्टूबर को एक्टिव होगा
अधिसूचना डाउनलोड करेंक्लिक करें
आधिकारिक वेबसाइटआधिकारिक वेबसाइट

MP PAT ऑनलाइन आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की मार्कशीट
  • पहचान आईडी(आधार कार्ड, निर्वाचन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस,इत्यादि)।
  • निवास प्रमाण पत्र
  • रंगीन फ़ोटो, सिग्नेचर इत्यादि।

MP PAT फॉर्म के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

जो भी उम्मीदवार MP PAT फॉर्म का ऑनलाइन आवेदन करना चहाते हैं वो सभी उम्मीदवार नीचे दिए सभी चरणों को ध्यान पूर्वक पढ़े जिससे अपना ऑनलाइन आवेदन आसानी से कर पाएंगे।

ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सर्वप्रथम अधिकारीक वेबसाइट पर जाएं वहां जाने के बाद एमपी पीएटी रजिस्ट्रेशन लिंक को खोजें।

लिंक को खोजने के बाद उस पर क्लिक करें, क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमें उम्मीदवार की व्यक्तिगत जानकारी मांगी जाएगी, जैसे – उम्मीदवार का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि, एक रंगीन फोटो, सिग्नेचर, सरकार द्वारा जारी आईडी, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी इत्यादि चीजें भरने का विकल्प रहेगा जिसको भरने के बाद नीचे दिए सबमिट बटन पर क्लिक करें।

उसके बाद भरे गए डाटा का प्रीव्यू आएगा प्रीव्यू मे आप अपने द्वारा भरे गए जानकारी का मिलान कर लें, ताकि फार्म सबमिट करते समय किसी दिक्कत का साम्हना ना करना पड़े, रजिस्ट्रेशन कंप्लीट करने के बाद, आयोग द्वारा जारी आवेदन शुल्क का भुगतान करें।

आवेदन शुल्क का भुगतान करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन सफलतापूर्वक सबमिट हो जाएगा उसके बाद आप अपने फार्म का प्रिंट आउट ले सकते हैं।

जो भी उम्मीदवार रजिस्ट्रेशन करने के बाद आवेदन शुल्क का भुगतान नहीं करेगा उस उम्मीदवार का फार्म सबमिट नहीं माना जाएगा।

एमपी पीएटी 2021 परीक्षा पैटर्न

  • यह परीक्षा ऑनलाइन मोड के माध्यम से आयोजित की जाएगी।
  • इस परीक्षा में कुल 200 प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • परीक्षा के लिए कुल 3 घंटे का समय मिलेगा।
  • प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध होगा।
  • परीक्षा में कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

ऑनलाइन परीक्षा की समय सारणी

परीक्षा की तिथि और दिनपरीक्षा की पालीअभ्यार्थियों की रिपोर्टिंग टाइममहत्वपूर्ण निर्देश पढ़ने का समयपरीक्षा का समय
05 दिसम्बर(रविवार)प्रथम पालीसुबह 7:00 बजे से 8:00 बजे तकसुबह 8:50 से 9:00 बजे तक(10 मिनट)सुबह 9:00 बजे से 12 बजे तक कुल 3 घण्टे (180 मिनट) तक
द्वितीय पालीदोपहर 12:00 से 1:00 तकदोपहर 1:50 से 2:00 बजे तक (10 मिनट)दोपहर 2:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक 3 घंटे कुल (180 मिनट)
6 दिसम्बर सोमवारप्रथम पालीसुबह 7:00 बजे से 8:00 बजे तकसुबह 8:50 से 9:00 बजे तक(10 मिनट)सुबह 9:00 बजे से 12 बजे तक कुल 3 घण्टे (180 मिनट) तक
द्वितीय पालीदोपहर 12:00 से 1:00 तकदोपहर 1:50 से 2:00 बजे तक (10 मिनट)दोपहर 2:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक 3 घंटे कुल (180 मिनट)
7 दिसम्बर (मंगलवार)प्रथम पालीसुबह 7:00 बजे से 8:00 बजे तकसुबह 8:50 से 9:00 बजे तक(10 मिनट)सुबह 9:00 बजे से 12 बजे तक कुल 3 घण्टे (180 मिनट) तक
द्वितीय पालीदोपहर 12:00 से 1:00 तकदोपहर 1:50 से 2:00 बजे तक (10 मिनट)दोपहर 2:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक 3 घंटे कुल (180 मिनट)

परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण निर्देश

  • उम्मीदवार परीक्षा केंद्र पर वही आधार कार्ड लेकर जाए जो यूआईडीएआई वेबसाइट पर रजिस्टर्ड हो।
  • बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षाओं में उम्मीदवार को अपनी फ़ोटो वाली आईडी लेकर जानी है, फोटोयुक्त पहचान पत्र में अभ्यर्थी अपना मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस तथा पासपोर्ट में से कोई एक को ले जा सकता हैं।
  • यूआईडीएआई के द्वारा सत्यापित न होने पर आधार कार्ड मान्य नही होगा, उम्मीदवार की फोटो सहित पहचान पत्र न होने पर परीक्षा में सम्मिलित नही होने दिया जाएगा।
  • परीक्षा में प्रवेश के समय उम्मीदवार का बहु स्तरीय बायोमेट्रिक सत्यापन अनिवार्य है परीक्षार्थियों को परीक्षा में रिपोर्टिंग समय तक परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति होगी इसके पश्चात विलंब से आने वाले अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं मिलेगा।
  • परीक्षा कक्ष में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या मोबाइल, फोन, कैलकुलेटर लॉक टेबल्स एवं नकल पूर्णतः प्रतिबंधित है।
  • ऑनलाइन आवेदन पत्र क्रमांक के द्वारा ही ऑनलाइन परीक्षा हेतु अभ्यर्थी अपना प्रवेश पत्र प्राप्त डाउनलोड कर सकते हैं तो आवेदन पत्र क्रमांक आवश्यक रूप से संभाल कर रखें।
  • परीक्षा केंद्र पर आवेदकों को काला बाल पॉइंट पेन तथा परीक्षा हाल में प्रवेश हेतु मंडल की वेबसाइट से डाउनलोड किए गए प्रवेश पत्र लाना अनिवार्य है, किसी भी उम्मीदवार को परीक्षा प्रारंभ होने के बाद और परीक्षा समाप्त होने से पहले कक्ष छोड़ने की अनुमति नहीं होंगी।

MP PAT सिलेबस की जानकारी

विज्ञान -भौतिकी और रसायन विज्ञान का संयोजन

भौतिकी इकाई और आयाम, आयामी विश्लेषण, एसआई इकाइयां, दो आयामों में समान गति वेग और समान त्वरण के मामले, स्थिति और वेग के बीच सामान्य संबंध, एकसमान वृत्तीय गति बल और जड़ता, न्यूटन के गति के नियम।

संवेग और ऊर्जा का संरक्षण, स्थैतिक और गतिज घर्षण, कार्य ऊर्जा और शक्ति, संभावित ऊर्जा।

गुरुत्वाकर्षण संभावित ऊर्जा और गतिज ऊर्जा में इसका कोणीय रूपांतरण, एक वसंत की संभावित ऊर्जा, कठोर शरीर का घूमना और इसकी गति का संरक्षण, समानांतर और लंबवत अक्ष के प्रमेय,(केवल एकसमान वलय, डिस्क, पतली छड़ और ईलिंडर की जड़ता का क्षण)।

गुरुत्वाकर्षण और इसकी भिन्नता के कारण, गुरुत्वाकर्षण का सार्वभौमिक नियम, भूस्थिर उपग्रह।

पलायन वेग हुक का नियम, यंग का मापांक, सतह ऊर्जा और सतह तनाव, गैसों का गतिज सिद्धांत, गैस के नियम, गतिज ऊर्जा और तापमान।

विशिष्ट ऊष्मा और रुद्धोष्म प्रक्रम, निरंतर मात्रा और निरंतर दबाव, ऊष्मा के यांत्रिक समतुल्य, एक आयाम में समतापीय ऊष्मा चालन, संवहन और विकिरण, स्टीफन का नियम और न्यूटन का शीतलन का नियम।

सरल हार्मोनिक गति, वसंत के कारण दोलन, तरंग गति, सुपरपोजिशन का सिद्धांत, प्रगतिशील और स्थिर तरंगें, धड़कन और डॉपलर का प्रभाव।

प्रकाश की तरंग, व्यतिकरण, यंग का दोहरा भट्ठा प्रयोग, प्रकाश का वेग और प्रकाश में डॉप्लर का प्रभाव।

परावर्तन, अपवर्तन, पूर्ण आंतरिक परावर्तन, घुमावदार दर्पण, लेंस, दर्पण और लेंस सूत्र, प्रिज्म, अवशोषण और उत्सर्जन स्पेक्ट्रा में फैलाव।

दृष्टि दोष, आवर्धन व दूरबीन और माइक्रोस्कोप “ई” और “ई/एम” की संकल्प शक्ति, आइंस्टीन के फोटोइलेक्ट्रिक समीकरण, फोटोकल्स।

परमाणु का मॉडल, हाइड्रोजन स्पेक्ट्रम, नाभिक की संरचना, परमाणु द्रव्यमान और समस्थानिक, रेडियोधर्मिता, रेडियो सक्रिय क्षय के नियम, क्षय स्थिरांक, आधा जीवन और औसत जीवन, द्रव्यमान-ऊर्जा संबंध, विखंडन, एक्स-रे गुण और उपयोग।

कंडक्टर, सेमी-कंडक्टर और इंसुलेटर, इंट्रिंसिक और एक्सट्रिंसिक सेमी कंडक्टर, पी-एन जंक्शन के एक रेक्टिफायर के रूप में प्राथमिक विचार।

बार चुंबक, बल की रेखाएं, चुंबकीय क्षेत्र के कारण बार चुंबक पर टोक़, पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र, स्पर्शरेखा गैल्वेनोमीटर, कंपन मैग्नेटोमीटर, कूलॉम का इलेक्ट्रोस्टैटिक, विद्युत क्षेत्र और एक बिंदु, आवेश के कारण क्षमता, द्विध्रुवीय, द्विध्रुवीय क्षेत्र, एक साधारण ज्यामितीय में गुआस का नियम।

श्रृंखला और समानांतर, संधारित्र की ऊर्जा में ईट्रोस्टैटिक क्षमता, समाई, समानांतर प्लेट और गोलाकार कैपेसिटर, विद्युत प्रवाह, ओम का नियम, किरचॉफ का नियम, श्रृंखला में प्रतिरोध और प्रतिरोध की समानांतर तापमान निर्भरता।

व्हीटस्टोन ब्रिज, पोटेंशियोमीटर, धाराओं के रूप में वोल्टेज का मापन,विद्युत शक्ति, धाराओं का ताप प्रभाव, रासायनिक प्रभाव और इलेट्रोलिसिस थर्मोइलेक्ट्रिसिटी का नियम, बायोट सावर्ट कानून, एक सीधे तार के वृत्ताकार लूप और परिनालिका के कारण चुंबकीय क्षेत्र, चुंबकीय क्षेत्र में गतिमान आवेश पर बल, धारा लूप का चुंबकीय आघूर्ण, धारा लूप के एकसमान चुंबकीय क्षेत्र का प्रभाव, दो धाराओं के बीच बल, गतिमान कुंडल, गैल्वेनोमीटर, एनमीटर और वोल्टमीटर।

विद्युतचुंबकीय प्रेरण प्रेरित ईएमएफ, फैराडे कानून, लेनज़ का नियम, स्व और पारस्परिक अधिष्ठापन प्रत्यावर्ती धाराएं, प्रतिबाधा और प्रतिक्रिया, एल-आर ईरियूट में वर्तमान का विकास और क्षय, डायनेमो और ट्रांसफार्मर का प्राथमिक विचार।

रसायन विज्ञान(सामान्य और भौतिक रसायन विज्ञान)

  1. परमाणु की संरचना, नाभिक का गठन, बोहर का परमाणु मॉडल, क्वांटम संख्या औफबौ सिद्धांत, तत्वों का एलीट्रोनिक विन्यास डी-ब्रोगली संबंध, ऑर्बिटल्स के आकार।
  2. रासायनिक बंधन,इलेक्ट्रोवैलेंट, सहसंयोजक और समन्वय बंधन, संकरण (एसपी),बायड्रोजन बंधन,अणुओं के आकार (वीएसईपीआर सिद्धांत), बंधन ध्रुवीयता।
  3. समाधान: समाधान की सांद्रता व्यक्त करने के तरीके, समाधान के प्रकार, कोलिगेटिव गुणों के राउल्ट कानून, गैर-आदर्श समाधान, अमान्य आणविक भार।
  4. ठोस अवस्था: क्रिस्टल जाली, इकाई कोशिकाएं, आयनिक यौगिकों की संरचना, एलोज पैक्ड संरचना लोनिक त्रिज्या, अपूर्णताएं (बिंदु दोष), ठोस के गुण।
  5. परमाणु रसायन रेडियो सक्रिय विकिरण: अर्ध-जीवन, रेडियोधर्मी क्षय, समूह विस्थापन नाभिक की कानून संरचना और गुण,परमाणु प्रतिक्रिया, विघटन श्रृंखला कृत्रिम रूपांतरण, आइसोटोप और उनके उपयोग, रेडियोकार्बनडेटिंग।
  6. रासायनिक संतुलन, रासायनिक संतुलन, सामूहिक क्रिया का नियम, केपी और केसी, ले चेटेलियर सिद्धांत और इसके अनुप्रयोग।
  7. विलयन में आयनिक संतुलन, विलेयता उत्पाद, सामान्य आयन प्रभाव, अम्लों का सिद्धांत और लवणों का क्षारक जल-अपघटन।
  8. थर्मोकैमिस्ट्री और थर्मोडायनामिक्स: रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान ऊर्जा परिवर्तन, आंतरिक ऊर्जा थैलेपी, थर्मोडायनामिक्स का पहला नियम, हेस का नियम प्रतिक्रियाओं की गर्मी, थर्मोडायनामिक्स का दूसरा कानून, एन्ट्रॉपी, मुक्त ऊर्जा, एक रासायनिक प्रतिक्रिया की सहजता, मुक्त ऊर्जा परिवर्तन और रासायनिक संतुलन, मुक्त ईन कार्य।
  9. उपयोगी रासायनिक गतिज के लिए उपलब्ध ऊर्जा के रूप में: प्रतिक्रिया की दर, दर को प्रभावित करने वाले कारक, दर स्थिर दर अभिव्यक्ति, प्रतिक्रिया का क्रम। प्रथम क्रम दर स्थिरांक व्यंजक और अभिलक्षण, अरहेनस समीकरण।

इलेक्ट्रोकैमिस्ट्री: ऑक्सीकरण, ऑक्सीकरण मम्बर और आयन-क्लेक्ट्रॉन विधियां, इलेक्ट्रोलाइटिक चालन, फैराडे के नियम, वोल्टाइक सेल, क्लिट्रोड विभव, विद्युत वाहक बल, गिब की ऊर्जा और सेल विभव, नर्नेस्ट सीक्वेशन, कमर्शियल सेल, फ्यूल सेल, इलेक्ट्रोकेमिकल थ्योरी ऑफ जंग।

  • भूतल रसायन विज्ञान, कोलाइड्स और कटैलिसीस, सोखना, कोलाइड्स (प्रकार की तैयारी और गुण), इमल्शन, मिसेल। कटैलिसीस: प्रकार और विशेषताएं।
  • अकार्बनिक रसायन
  • धातुकर्म संचालन के सिद्धांत: Na, Al, Fe, Cu की भट्टियां, orc एकाग्रता, निष्कर्षण, शुद्धिकरण धातुकर्म। Ag, Zn और Pb और उनके गुण।
  • रासायनिक आवधिकता: एस.पी.डी. और एफ-ब्लॉक क्लीमेंट्स, आवर्त सारणी, परमाणु और आयनिक रेडियल संयोजकता, आयनीकरण ऊर्जा, इलेक्ट्रॉन आत्मीयता वैद्युतीयऋणात्मकता, धात्विक चरित्र, तत्वों के निम्नलिखित परिवारों का तुलनात्मक अध्ययन: (i) क्षार धातुएँ (1) क्षारीय कार्थ धातुएँ (ut) नाइट्रोजन परिवार (iv) ऑक्सीजन परिवार (v) हैलोजन (vi) महान गैसें।
  • संक्रमण धातुएं, डी-धातु आयनों का फ्लेट्रोनिक विन्यास, ऑक्सीकरण अवस्थाएं, अन्य सामान्य विशेषता गुण, पोटेशियम परमैंगनेट, पोटेशियम डाइक्रोमेट।
  • समन्वय यौगिक: सरल नामकरण, बंधन और स्थिरता, वर्गीकरण और जीवों में बंधन।
  • रासायनिक विश्लेषण: इसमें शामिल रसायन विज्ञान सरल अकार्बनिक quilitative विश्लेषण है: एसिड-बेस टिट्रीमेट्री पर आधारित गणना।

कार्बनिक रसायन

  • कार्बनिक यौगिकों के अनुभवजन्य और आणविक सूत्र की गणना, कार्बनिक यौगिकों का नामकरण, सामान्य कार्यात्मक समूह आइसोमेरिज्म संरचना और अल्केन्स, अल्केन्स और बेंजीन के आकार।
  • अल्काइन्स, एल्काइन्स, बेंजीन पेट्रोलियम, क्रैकिंग ऑक्टेन नंबर, गैसोलीन एडिटिव्स के परपरेशन गुण और उपयोग।
  • नामकरण, भौतिक रासायनिक गुण, संरचना गुणों के साथ भौतिक गुणों का सहसंबंध और हेलोअल्केन्स, हेलोबेंजीन, अल्कोहल और फिनोल के उपयोग: कुछ पॉलीहैलोजन यौगिकों के सामान्य विचार जैसे डाइकोलोरोथेन, डाइक्लोरोइथर, क्लोरोफॉर्म, कार्बन टेट्राक्लोराइड डी.डी.टी. बेंजीन हेक्साक्लोराइड।
  • नामकरण, तैयार करने की विधियाँ, रासायनिक गुण भौतिक गुणों का ईथर एल्डिहाइड, कीटोन, कार्बोक्जिली एसिड और उनके डेरिवेटिव के उपयोग के साथ सहसंबंध, साइनाइड आइसोसायनाइड्स, एमाइन और नाइट्रो यौगिकों के रसायन विज्ञान का संक्षिप्त विवरण।
  • पॉलिमर: वर्गीकरण, सामान्य प्राकृतिक और सिंथेटिक पॉलिमर की तैयारी और उपयोग।
  • जैव अणु: कार्बोहाइड्रेट अमीनो एसिड, पेप्टाइड्स, प्रोटीन और एंजाइम, न्यूक्लिक एसिड और लिपिड का वर्गीकरण, संरचनाएं और जैविक महत्व।

गणित

बीजगणित

  • जटिल नम्बरों का बीजगणित, जटिल संख्याओं के मापांक का चित्रमय प्रतिनिधित्व, और जटिल संख्याओं का तर्क, एक जटिल मिमी से संयुग्मित, त्रिभुज असमानता, एकता की घन जड़ें। अंकगणित, ज्यामितीय और हार्मोनिक प्रगति। अंकगणित, ज्यामिति और हार्मोनिक दो संख्याओं के बीच का अर्थ है। पहली प्राकृत संख्याओं के वर्गों और घनों का योग। सिद्धांत, ज्यामितीय समीकरण, जड़ों और गुणांक के बीच संबंध।
  • एक चर में द्विघात समीकरण, क्रमपरिवर्तन और संयोजन, बायोनोमियल थ्योरम (कोई भी इंडेक्स) घातीय और लॉगरिदमिक स्क्रीज, तीसरे क्रम तक के निर्धारक और उनके क्रम और उनके प्राथमिक गुण मैट्रिक्स के प्रकार, आसन्न और मैट्रिक्स के व्युत्क्रम, प्राथमिक। तीन चरों तक समकालिक समीकरण को हल करने में अनुप्रयोग।

त्रिकोणमिति

  • त्रिकोणमिति कार्य और उनके रेखांकन, जोड़ और घटाव सूत्र, एकाधिक कोणों वाले सूत्र, त्रिकोणमितीय समीकरणों के सामान्य समाधान, त्रिभुज की भुजाओं और कोणों के बीच संबंध, त्रिभुजों के हल, प्रतिलोम, त्रिकोणमितीय फलन, ऊँचाई और दूरी (सरल समस्याएँ)।
को-ऑर्डिनेट ज्यामिति
  • आयताकार कार्टेसेन निर्देशांक सीधी रेखा, सीधी रेखाओं से युग्म, एक रेखा से एक बिंदु की दूरी, दो रेखाओं के बीच का कोण, सर्कल, स्पर्शरेखा और मानदंड, सिरेल्स की प्रणाली, शंकु खंड; प्राथमिक गुणों, स्पर्शरेखाओं और मानदंडों के साथ मानक रूपों में परबोला, दीर्घवृत्त और अतिपरवलय।
  • तीन आयामों की समन्वय ज्यामिति: आयताकार समन्वय प्रणाली। डायरेक्शन कोसाइन और दिशा अनुपात, मानक रूपों में स्थान का समीकरण,एक बिंदु से लंबवत दूरी, दो रेखाओं के बीच एक रेखा कोण का समीकरण।
  • सदिश की परिभाषा, सदिश का योग, त्रिविमीय अंतरिक्ष के घटक, अदिश और वेक्टर उत्पाद, ट्रिपल उत्पाद, ज्यामिति और यांत्रिकी में सरल अनुप्रयोग।
  • डिफरेंशियल कैलकुलस: फ़ंक्शन, बहुपद, तर्कसंगत त्रिकोणमितीय, लघुगणक और घातीय, व्युत्क्रम कार्य, निरंतरता और कार्यों की भिन्नता को सीमित करें, तर्कसंगत, त्रिकोणमितीय और घातीय कार्यों का भेदभाव, यांत्रिकी, आईक्रीजिंग और घटते फ्रंक्शंस में प्राथमिक समस्याओं में व्युत्पन्न का अनुप्रयोग, एक चर के फलन का मैक्सिमा और मिनिमा, रोल का प्रमेय और माध्य मान प्रमेय।
  • इंटीग्रल कैलकुलस: विभेदन की व्युत्क्रम प्रक्रिया के रूप में एकीकरण भागों द्वारा एकीकरण, प्रतिस्थापन द्वारा और आंशिक अंश द्वारा, समाकलन परिभाषित करें।
  • विभेदक समीकरण: अवकल समीकरण का निरूपण, क्रमबद्ध डिग्री, चर विधि, समांगी रूप के पृथक्करण द्वारा अवकल समीकरणों का समाधान। प्रथम कोटि का रैखिक अवकल समीकरण।
  • सांख्यिकी : प्रायिकता, योग और गुणन नियम। सशर्त संभाव्यता। द्विपद वितरण। ईओरिलेशन और रिग्रेशन में सरल समस्याएं।
  • संख्यात्मक विधियाँ: समद्विभाजन, असत्य स्थिति और न्यूटन-रैफसन की विधियों द्वारा समीकरण का हल। समलम्बाकार और सिम्पसन के नियम द्वारा संख्यात्मक एकीकरण।
  • रैखिक प्रोग्रामिंग: रैखिक प्रोग्रामिंग समस्याओं की परिभाषा और गठन। चित्रमय विधि द्वारा समाधान

वनस्पति विज्ञान

  • कोशिका का संरचनात्मक संगठन, कोशिका सिद्धांत, सेल ऑर्गेनेल न्यूक्लियस माइटोकॉन्ड्रिया, क्लोरोपास्ट एंडोप्लाज्मिक रेटिकुलम, गॉल्गी कॉम्प्लेक्स-लाइसोसोम, माइक्रोबॉडी माइक्रोफिलामेंट्स राइबोसोम की कोशिका संरचना और कार्यों का प्रकाश और इलेक्ट्रॉन सूक्ष्म दृश्य।
  • सेंट्रीओल्स और प्लास्मिड, यूकेरियोटिक क्रोमोसोम (आकृति विज्ञान) कोशिका और प्लाज्मा झिल्ली: पौधे और पशु कोशिका विभाजन के बीच अंतर, माइटोसिस और अर्धसूत्रीविभाजन का कोशिका चक्र महत्व, मेंडल के इनहेरिटेंस के नियम, मोनोहाइब्रिड और डायहाइब्रिड क्रॉस: लिंकेज एंड क्रॉसिंग ओवर ऑफ जेनेटिक मटीरियल डीएनए रिलेशन, जेनेटिक कोड ट्रांससेरिप्शन ट्रांसक्रिप्शन और जीन रेगुलेशन।
  • प्रोकैरियोट और यूकेरियोट्स के बीच अंतर, संरचना प्रजनन और वायरस माइकोप्लाज्मा, बैक्टीरियोफेज, साइनोबैक्टीरिया (नोस्टोक) और बैक्टीरिया का आर्थिक महत्व। पांच साम्राज्य वर्गीकरण द्विपद नामकरण स्पाइरोगाइरा म्यूकर, फ्यूनेरिया सेलाजिनेला और पिनस, माइक्रोस्पोरोजेनेसिस मेगास्पोरोजेनेसिस के प्रारंभिक ज्ञान का बाह्य आकृति विज्ञान और जीवन का चक्र।
  • एंजियोस्पर्म में निषेचन एंडोस्पर्म और भ्रूण विकास, ऊतक और ऊतक प्रणाली, विभज्योतक और स्थायी ऊतक, खनिज पोषण-आवश्यक तत्व और उनके कार्य: खनिजों का अवशोषण, जल और विलेय का परिवहन।
  • वाष्पोत्सर्जन प्रकाश संश्लेषण और श्वसन: महत्व, तंत्र और इन प्रक्रियाओं को प्रभावित करने वाले कारक: प्रकाश श्वसन।
  • एंजाइम और वृद्धि हार्मोन उनके वर्गीकरण के संदर्भ में। रासायनिक प्रकृति, क्रिया का तरीका, उनके वर्गीकरण के संदर्भ में ऑटोमेटी जूम एंजाइम और वृद्धि हार्मोन, रासायनिक प्रकृति, क्रिया का तरीका महत्व।

फोटोपेरियोडिज्म और फाइटोक्रोम का प्राथमिक विचार

  • पारिस्थितिकी तंत्र – संरचनाएं और कार्य, प्रमुख पारिस्थितिक तंत्र यानी झील और वन, खाद्य श्रृंखला, खाद्य वेब और ऊर्जा प्रवाह, ईओलॉजिकल एरिसिस- प्रदूषणकारी पर्यावरण में मनुष्य की भूमिका – वायु जल और मिट्टी।
  • मानव कल्याण में पौधों की भूमिका : आर्थिक मूल्य के पादप उत्पादों का सामान्य ज्ञान- औषधियां, रेशे, अनाज। गेहूँ और चावल, दालें (चना), तिलहन (जमीन का मिटटी),गन्ना, कोयला और पेट्रोलियम, खाद्य परिरक्षण-पद्धतियाँ और महत्व, पादप प्रजनन का सिद्धांत और फसलों के सुधार में इसकी भूमिका, जैव प्रौद्योगिकी, कृषि और उद्योग निर्माण में दायरा और महत्व, दही शराब एंटीबायोटिक्स।

जूलॉजी – बहुकोशिकीय पशु जीवन की संरचना और कार्य

  • पशु ऊतकों की संरचना और कार्य उपकला, संयोजी पेशी, कंकाल और तंत्रिका, स्तनधारी अंगों का ऊतक विज्ञान – पेट, आंत, जिगर, गुर्दा, फेफड़े, वृषण और अंडाशय, मानव शरीर के विभिन्न अंगों की संरचना और शरीर क्रिया विज्ञान, त्वचा, पाचन तंत्र, श्वसन प्रणाली, क्रिटिकल सिस्टम।
  • आंदोलन के मूल पर कंकाल, जोड़, मसल्स रिसेप्टर्स, मनुष्य की विभिन्न अंतःस्रावी ग्रंथियों और हार्मोन समन्वय के विशेष संदर्भ में अंतःस्रावी तंत्र, विटामिन और खनिज के कमी के कारण स्रोत और विकार।
  • विकासात्मक जीव विज्ञान और आनुवंशिकी: स्तनधारियों में मादा प्रजनन चक्र, शुक्राणु और डिंब की संरचना के साथ युग्मकजनन, अंडे के प्रकार, निषेचन, दरार के प्रकार और ब्लास्टुला के प्रकार, तीन जनन परतों तक स्तनधारियों का विकास, भ्रूण झिल्ली संरचना और कार्य, वृद्धि, मरम्मत और बुढ़ापा, एमनियोसेंटेसिस, गुणसूत्र, क्रोमोसोम के प्रकार, ह्यूमन कैरियोटाइप और क्रोमोसोमल असामान्यताएं और सिंड्रोम, हॉर्मोनल, क्रोमोसोमल और जेनिक बैलेंस थ्योरी ऑफ लिंग निर्धारण, सेक्स लिंकेज और मैन में सेक्स लिंक्ड इनहेरिटेंस, ब्लड ग्रुप और उनका महत्व, ब्लड बैंक।
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग (संक्षिप्त विचार, उत्परिवर्तन जीन उत्परिवर्तन, मानव जनसंख्या व जन्म मृत्यु दर, लिंगानुपात जनसंख्या विस्फोट, खाद्य आपूर्ति के संबंध में मानव जीवन की गतिशीलता, आवास स्वास्थ्य और जनसंख्या समस्याओं के जीवन स्तर पर प्रभाव और उनका नियंत्रण।

टैक्सोनॉमी इवोल्यूशन इकोनॉमिक जूलॉजी – एलासिफिकेशन का

  • बायोनोमियल और ट्रिनोमल नामकरण वर्गीकरण की बुनियादी विशेषताएं, वर्गीकरण विभिन्न जानवरों के फ़ाइला का वर्गीकरण वर्णों और उपयुक्त उदाहरणों के साथ, जीवन की उत्पत्ति, जीवों के विकास के सिद्धांत-डार्विन, लैमार्क, जैविक विकास के सिंथेटिक साक्ष्य, मानव विकास। आर्थिक जूलॉजी / सेरीकल्चर, एपिकल्चर, पोल्ट्री, फिशरी और मोती उद्योग।
  • मनुष्य के संबंध में प्रोटोजोआ डिस्क, मनुष्य को प्रत्युत्तर में कीट प्रारंभिक रोग, कैंसर-प्रकार के कैंसर और कैंसर ईली। संचारी रोग (हेपेटाइटिस, एएलडीएस) एसटीडी, इम्यून सैंड एंटीसेरा एलर्जी धूम्रपान, एलोहोलिज्म और खोदने की लत, लक्षण और नियंत्रण।
  • जंगली संरक्षण कीटनाशक – उपयोग, फायदे और खतरे, विज्ञान और गणित।
  • कृषि भौतिकी: आर्किमिडीज का सिद्धांत, तैरते पिंडों का घनत्व और सापेक्ष घनत्व, आर.डी. का निर्धारण।
  • इसके साथ कृषि के लिए उपयोगी गणित विज्ञान एवं गणिततत्व, फसल उत्पादन एवं उद्यान शास्त्र,पशुपालन एवं कुक्कुट पालन के तत्व इत्यादि विषय से प्रश्न आते हैं।

सिलेबस के बारे में विस्तार से जानने के लिए अधिसूचना पढ़े।

Leave a Comment